Heart touching love shayari in hindi


मोहब्बत ऐसी थी कि उनको दिखाई न दी!
चोट दिल पर थी इसलिए दिखाई न गयी!
चाहते नहीं थे उनसे दूर होना पर!
दुरिया इतनी थी कि मिटाई न गयी!

mohabbat aisi thi ki unko dikhaai n di! chot dil par thi esalia dikhaai n gayi! chaahte nahin the unse dur honaa par! duriyaa etni thi ki mitaai n gayi!

प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता!
ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता!
दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की!
उसके बिना जिया नहीं जा सकता!

pyaar kamjor dil se kiyaa nahin jaa saktaa! jahar dushman se liyaa nahin jaa saktaa! dil men basi hai ulphat jis pyaar ki! uske binaa jiyaa nahin jaa saktaa!


आज असमान के तारों ने मुझे पूछ लिया;
क्या तुम्हें अब भी इंतज़ार है उसके लौट आने का!
मैंने मुस्कुराकर कहा;
तुम लौट आने की बात करते हो;
मुझे तो अब भी यकीन नहीं उसके जाने का!

aaj asmaan ke taaron ne mujhe puchh liyaa; kyaa tumhen ab bhi entajaar hai uske laut aane kaa! mainne muskuraakar kahaa; tum laut aane ki baat karte ho; mujhe to ab bhi yakin nahin uske jaane kaa!


माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं;
जवाब देने को हम राज़ी है, पर कोई सवाल नहीं!
पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं;
क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं!

maanaa aaj unhen hamaaraa koi khyaal nahin; javaab dene ko ham raaji hai, par koi savaal nahin! puchho unke dil se kyaa ham unke yaar nahin; kyaa hamse milne ko vo bekraar nahin!



रेत पर नाम कभी लिखते नहीं;
रेत पर नाम कभी टिकते नहीं;
लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं;
लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं!

ret par naam kabhi likhte nahin; ret par naam kabhi tikte nahin; log kahte hai ki ham patthar dil hain; lekin patthron par likhe naam kabhi mitte nahin!



महोब्बत और नफरत सब मिल चुके हैं मुझे;
मैं अब तकरीबन मुकम्मल हो चोका हूँ!

mahobbat aur napharat sab mil chuke hain mujhe;
main ab takriban mukammal ho chokaa hun!


इश्क के रिश्ते कितने अजीब होते है?
दूर रहकर भी कितने करीब होते है;
मेरी बर्बादी का गम न करो;
ये तो अपने अपने नसीब होते हैं!

eshk ke rishte kitne ajib hote hai? dur rahakar bhi kitne karib hote hai; meri barbaadi kaa gam n karo; ye to apne apne nasib hote hain!



वो खुद पर गरूर करते है, तो इसमें हैरत की कोई बात नहीं!
जिन्हें हम चाहते है, वो आम हो ही नहीं सकते!

vo khud par garur karte hai, to esmen hairat ki koi baat nahin!
jinhen ham chaahte hai, vo aam ho hi nahin sakte!

कोई ठुकरा दे तू हंस के सह लेना;
मोहब्बत की ताबित में ज़बरदस्ती नहीं होती!

koi thukraa de tu hans ke sah lenaa; mohabbat ki taabit men jabaradasti nahin hoti!


ये वफ़ा तो उस वक्त की बात है ऐ फ़राज़;
जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे!

ye vfaa to us vakt ki baat hai ai fraaj; jab makaan kachche aur log sachche huaa karte the!


कोई अच्छा लगे तो उनसे प्यार मत करना;
उनके लिए अपनी नींदे बेकार मत करना;
दो दिन तो आएँगे खुशी से मिलने;
तीसरे दिन कहेंगे इंतज़ार मत करना!

koi achchhaa lage to unse pyaar mat karnaa; unke lia apni ninde bekaar mat karnaa; do din to aaange khushi se milne; tisre din kahenge entajaar mat karnaa!


कृष्ण ने राधा से पूछा: ऐसी एक जगह बताओ, जहाँ में नहीं हूँ?
राधा ने मुस्कुराके कहा, `बस मेरे नसीब में`!

kriashn ne raadhaa se puchhaa: aisi ek jagah bataao, jahaan men nahin hun? raadhaa ne muskuraake kahaa, `bas mere nasib men`!


अजीब खेल है ये मोहब्बत का;
किसी को हम न मिले, कोई हमें ना मिला!

ajib khel hai ye mohabbat kaa; kisi ko ham n mile, koi hamen naa milaa!

फूल खिलते रहे जिंदगी की राह में;
हंसी चमकती रहे आपकी निगाह में;
कदम कदम पर मिले ख़ुशी की बाहर आपको;
दिल देता है यही दुआ बार-बार आपको;
वेलेंटाइन डे की शुभकामनाए!

phul khilte rahe jindgi ki raah men; hansi chamakti rahe aapki nigaah men; kadam kadam par mile khushi ki baahar aapko dil detaa hai yahi duaa baar-baar aapko; velentaaen de ki shubhkaamnaaa!



कभी हँसता है प्यार, कभी रुलाता है प्यार;
हर पल की याद दिलाता है यह प्यार;
चाहो या न चाहो पर आपके होने का एहसास दिलाता है ये प्यार;
वेलेंटाइन डे की शुभकामनाए!

kabhi hnastaa hai pyaar, kabhi rulaataa hai pyaar; har pal ki yaad dilaataa hai yah pyaar; chaaho yaa n chaaho par aapke hone kaa ehsaas dilaataa hai ye pyaar; velentaaen de ki shubhkaamnaaa!



खींच लेती है मुझे उसकी मोहब्बत;
वरना मै बहुत बार मिला हूँ आखरी बार उससे!


khinch leti hai mujhe uski mohabbat;

varnaa mai bahut baar milaa hun aakhri baar usse!


उसने देखा ही नहीं अपनी हथेली को कभी;
उसमे हलकी सी लकीर मेरी भी थी!

usne dekhaa hi nahin apni hatheli ko kabhi; usme halki si lakir meri bhi thi!

तुम्हारे पास नहीं तो फिर किस के पास है?
वो टुटा हुआ दिल, आखिर गया कहाँ!

tumhaare paas nahin to phir kis ke paas hai? vo tutaa huaa dil, aakhir gayaa kahaan!



ये डूबने वाले का ही होता हे कोई फन;
आँखों में किसी के भी समंदर नहीं होता!


ye dubne vaale kaa hi hotaa he koi phan; 

aankhon men kisi ke bhi samandar nahin hotaa!

दिल की धड़कन और मेरी सदा है वो;
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है वो;
चाहा है उसे चाहत से बड़ कर;
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है वो!

dil ki dhadakan aur meri sadaa hai vo; meri pahli aur aakhiri vfaa hai vo; chaahaa hai use chaahat se bad kar; meri chaahat aur chaahat ki entihaa hai vo! tum mujhe maukaa to do aitbaar banaane kaa;



तुम मुझे मौका तो दो ऐतबार बनाने का;
थक जाओगे मेरी वफाओं के साथ चलते चलते!

tum mujhe maukaa to do aitbaar banaane kaa; thak jaaoge meri vaphaaon ke saath chalte chalte!


तमाम नींदें गिरवी हैं हमारी उसके पास;
जिससे ज़रा सी मुहब्बत की थी हमनें!

tamaam ninden girvi hain hamaari uske paas; jisse jraa si muhabbat ki thi hamnen!


बस इतना ही कहा था, कि बरसो के प्यासे हैं हम;
उसने अपने होठों पे होंठ रख के, हमे खामोश कर दिया!

bas etnaa hi kahaa thaa, ki barso ke pyaase hain ham; usne apne hothon pe honth rakh ke, hame khaamosh kar diyaa!


उनके आने के इंतज़ार में हमनें;
सारे रास्ते दिएँ से जलाकर रोशन कर दिए!
उन्होंने सोचा कि मिलने का वादा तो रात का था;
वो सुबह समझ कर वापस चल दिए।

unke aane ke entajaar men hamnen; saare raaste dian se jalaakar roshan kar dia! unhonne sochaa ki milne kaa vaadaa to raat kaa thaa; vo subah samajh kar vaapas chal dia।



बेवाफायों की इस दुनियां में संभलकर चलना मेरे दोस्तों;
यहाँ बर्बाद करने के लिए, मुहब्बत का भी सहारा लेते हैं लोग!

bevaaphaayon ki es duniyaan men sambhalakar chalnaa mere doston; yahaan barbaad karne ke lia, muhabbat kaa bhi sahaaraa lete hain log!

Post a comment

0 Comments