Love shayari in hindi | Romantic Shayari | लव शायरी

Love shayari in hindi
Love shayari in hindi


Love shayari in hindi


ज़िंदगी जीने के लिए मुझे दुआ चाहिए;
उस पर किस्मत की भी वफ़ा चाहिए;
खुदा के रहम से सब कुछ है मेरे पास;
बस प्यार करने के लिए आप जैसा कोई महबूब चाहिए।

jindgi jine ke lia mujhe duaa chaahia; us par kismat ki bhi vfaa chaahia; khudaa ke raham se sab kuchh hai mere paas; bas pyaar karne ke lia aap jaisaa koi mahbub chaahia।


चुराकर दिल मेरा वो बेखबर से बैठे हैं;
मिलाते नहीं नज़र हमसे अब शर्मा कर बैठे हैं;
देख कर हमको छुपा लेते हैं मुँह आँचल में अपना;
अब घबरा रहे हैं कि वो क्या कर बैठे हैं।

churaakar dil meraa vo bekhabar se baithe hain; milaate nahin njar hamse ab sharmaa kar baithe hain; dekh kar hamko chhupaa lete hain munh aanchal men apnaa; ab ghabraa rahe hain ki vo kyaa kar baithe hain।


कभी मोहब्बत करो तो हमसे करना;
दिल की बात जुबाँ पर आये तो हम से कहना;
न कह सको कुछ तो आँखें झुका लेना;
हम समझ जायेंगे हमें तुम न कुछ कहना।.

kabhi mohabbat karo to hamse karnaa; dil ki baat jubaan par aaye to ham se kahnaa; n kah sako kuchh to aankhen jhukaa lenaa; ham samajh jaayenge hamen tum n kuchh kahnaa।.


ज़माने भर में आशिक कोई हमसा नही होगा;
खूबसूरत सनम भी कोई तुमसा नहीं होगा;
मर भी जाये उसकी बाहों में तो कोई गम नही यारो;
क्योंकी उसके आँचल से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होगा।


jmaane bhar men aashik koi hamsaa nahi hogaa;
khubsurat sanam bhi koi tumsaa nahin hogaa;
mar bhi jaaye uski baahon men to koi gam nahi yaaro;

kyonki uske aanchal se khubsurat koi kfan nahin hogaa।

जो एक बार दिल में बस जाये उसे हम निकाल नहीं सकते;
जिसे दिल अपना बना ले उसे फिर कभी भुला नहीं सकते;
वो जहाँ भी रहे ऐ खुदा हमेशा खुश रहे;
उनके लिए कितना प्यार है हमें ये कभी हम जता नहीं सकते।

jo ek baar dil men bas jaaye use ham nikaal nahin sakte; jise dil apnaa banaa le use phir kabhi bhulaa nahin sakte; vo jahaan bhi rahe ai khudaa hameshaa khush rahe; unke lia kitnaa pyaar hai hamen ye kabhi ham jataa nahin sakte।

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुम्हें;
बड़ी दुआओं से पाया है तुम्हें;
तुम ने भुलाने का सोचा भी कैसे;
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुम्हें।

bdi muddat se chaahaa hai tumhen; bdi duaaon se paayaa hai tumhen; tum ne bhulaane kaa sochaa bhi kaise; kismat ki lakiron se churaayaa hai tumhen।


हर घडी एक नाम याद आता है;
कभी सुबह, कभी शाम याद आता है;
सोचते हैं हम कि कर लें फिर से मोहब्बत;
फिर हमें मोहब्बत का अंजाम याद आता है।

har ghadi ek naam yaad aataa hai; kabhi subah, kabhi shaam yaad aataa hai; sochte hain ham ki kar len phir se mohabbat; phir hamen mohabbat kaa anjaam yaad aataa hai।



इस दिल की हर धड़कन का एहसास हो तुम;
तुम क्या जानो हमारे लिए कितने ख़ास हो तुम;
जुदा होकर तुमने हमे मौत से भी बदतर सज़ा दी है;
फिर भी इस तड़पते हुए दिल ने तुम्हें खुश रहने की दुआ दी है।

es dil ki har dhdakan kaa ehsaas ho tum; tum kyaa jaano hamaare lia kitne khaas ho tum; judaa hokar tumne hame maut se bhi badatar sjaa di hai; phir bhi es tdapte hua dil ne tumhen khush rahne ki duaa di hai।



उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था;
कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था;
बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम;
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

uske chehre par es kdar nur thaa; ki uski yaad men ronaa bhi manjur thaa; bevphaa bhi nahin kah sakte usko jaalim; pyaar to hamne kiyaa hai vo to beksur thaa।



प्यासी ये निगाहें तरसती रहती हैं;
तेरी याद में अक्सर बरसती रहती हैं;
हम तेरे ख्यालों में डूबे रहते हैं;
और ये ज़ालिम दुनिया हम पे हँसती रहती है।

pyaasi ye nigaahen tarasti rahti hain; teri yaad men aksar barasti rahti hain; ham tere khyaalon men dube rahte hain; aur ye jaalim duniyaa ham pe hnasti rahti hai।


चाहत के ये कैसे अफ़साने हुए;
खुद नज़रों में अपनी बेगाने हुए;
अब दुनिया की नहीं कोई परवाह हमें;
इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए।

chaahat ke ye kaise afsaane hua; khud njron men apni begaane hua; ab duniyaa ki nahin koi parvaah hamen; eshk men tere es kadar divaane hua।


तेरी आवाज़ तेरे रूप की पहचान है;
तेरे दिल की धड़कन में दिल की जान है;
ना सुनूं जिस दिन तेरी बातें;
लगता है उस रोज़ ये जिस्म बेजान है।

teri aavaaj tere rup ki pahchaan hai; tere dil ki dhdakan men dil ki jaan hai; naa sunun jis din teri baaten; lagtaa hai us roj ye jism bejaan hai।


ना दिल से होता है, ना दिमाग से होता है;
ये प्यार तो इत्तेफ़ाक़ से होता है;
पर प्यार करके प्यार ही मिले;
ये इत्तेफ़ाक़ भी किसी-किसी के साथ होता है।

Na dil se hota hai, Na dimag se hota hai;
Ye piyar to ektephak se hota hai;
Par piyar karke piyar hi mile;
Ye ektephak bhi kisi - kisi ke sath hota hai;



नमस्ते! मेरा रजनीश कुमार है। मै आपको यहां शायरी से सम्बंधित articles लिखता हूँ। यदि आप शायरी से संबंधित कोई articles लिखना चाहते हैं, तो कृपया [email protected] पर लिख कर ईमेल करे । कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम के साथ हमें ईमेल करे ।

Post a Comment

नमस्ते! मेरा रजनीश कुमार है। मै आपको यहां शायरी से सम्बंधित articles लिखता हूँ। यदि आप शायरी से संबंधित कोई articles लिखना चाहते हैं, तो कृपया [email protected] पर लिख कर ईमेल करे । कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम के साथ हमें ईमेल करे ।

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post