Love Shayari,Romantic Shayari, Romantic Love Quotes in Hindi

Love quotes,love quotes in hindi,love letter in hindi,love shayari in hindi,romantic shayari,love shayari in hindi for love,love shayari in hindi for boyfriend,love shayari in hindi for girlfriend,romantic love shayari in hindi,romantic love shayari,romantic love status,romantic love letter for girlfriend in hindi,romantic love letter for girlfriend in hindi.

 Romantic Love Quotes in Hindi



नहीं करती थी प्यार तो, मुझे बताया होता;
गौर फरमाइएगा;
नहीं करती थी प्यार तो, मुझे बताया होता;
बुला के पार्क में यूं धोखे से अपने भाइयो से;
तो ना पिटवाया होता।

Nahin karti thi pyaar to, mujhe bataayaa hotaa; Gaur pharmaaeagaa; Nahin karti thi pyaar to, mujhe bataayaa hotaa; Bulaa ke paark men yun dhokhe se apne bhaaeyo se; To naa pitvaayaa hotaa।


समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से;
अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।


Samet kar le jaao apne jhuthe vaadon ke adhure kisse;
Agli mohabbat men tumhen phir enki jrurat pdegi।


​समझ जाते थे हम उनके दिल की हर बात ​को​;​
​और ​वो हमें हर बार ​धोखा देते थे​;​
लेकिन हम भी मजबूर थे दिल के हाथों​;​
जो उन्हें बार​-​बार मौका देते थे​।

Samajh jaate the ham unke dil ki har baat ​ko​;​ ​Aur ​vo hamen har baar ​dhokhaa dete the​;​ Lekin ham bhi majbur the dil ke haathon​;​ Jo unhen baar​-​baar maukaa dete the​।


इंसानों के कंधे पर इंसान जा रहे हैं;
कफ़न में लिपट कर कुछ अरमान जा रहे हैं;
जिन्हें मिली मोहब्बत में बेवफ़ाई;
वफ़ा की तलाश में वो कब्रिस्तान जा रहे हैं।

Ensaanon ke kandhe par ensaan jaa rahe hain; Kfan men lipat kar kuchh armaan jaa rahe hain; Jinhen mili mohabbat men bevaphaai; Vfaa ki talaash men vo kabristaan jaa rahe hain।


​बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ;
ख़त उसके पानी में बहा के आया हूँ;
कोई पढ़ न ले उस बेवफा की यादों को;
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ।

Bevphaai uski mitaa ke aayaa hun; Kht uske paani men bahaa ke aayaa hun; Koi pdh n le us bevphaa ki yaadon ko; Esalia paani men bhi aag lagaa kar aayaa hun।

ये देखा है हमने खुद को आज़माकर;
धोखा देते हैं लोग करीब आकर;
कहती है दुनिया पर दिल नहीं मानता;
कि छोड़ जाओगे तुम भी एक दिन अपना बनाकार।

Ye dekhaa hai hamne khud ko aajmaakar; Dhokhaa dete hain log karib aakar; Kahti hai duniyaa par dil nahin maantaa; Ki chhod jaaoge tum bhi ek din apnaa banaakaar।

आग दिल में लगी जब वो खफा हुए;​
​महसूस हुआ तब,​ ​जब वो जुदा हुए​;
​​करके वफ़ा कुछ दे न सके वो​
​​पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफा हुए।

​Aag dil men lagi jab vo khaphaa hua;​ ​Mahsus huaa tab,​ ​jab vo judaa hua​; ​​Karke vfaa kuchh de n sake vo​ ​​Par bahut kuchh de gaye jab vo bevphaa hua।


​कहाँ से ​लाऊ हुनर उसे मनाने का​;​
कोई जवाब नहीं था उसके रूठ जाने का​;​
मोहब्बत में सजा मुझे ही मिलनी थी​;​
क्यूंकी जुर्म मैंने किया ​था ​उससे दिल लगाने का​।

Khaan se ​laau hunar use manaane kaa​;​
Koi javaab nahin thaa uske ruth jaane kaa​;​
Mohabbat men sajaa mujhe hi milni thi​;​
Kyunki jurm mainne kiyaa ​thaa ​usse dil lagaane kaa​।


कदम यूँ ही डगमगा गए रास्ते में;
वैसे संभालना हम भी जानते थे;
ठोकर भी लगी तो उसी पत्थर से;
जिसे हम अपना मानते थे।

Kadam yun hi dagamgaa gaye raaste men; Vaise sambhaalnaa ham bhi jaante the; Thokar bhi lagi to usi patthar se; Jise ham apnaa maante the।


किया अपना बन कर जो तूने सनम;
ना गैरों से वो कभी गैर करे;
अगर हमें छोड़ कर जाना चाहते हो;
जाओ चले जाओ अल्लाह खैर करे।

Kiyaa apnaa ban kar jo tune sanam; Naa gairon se vo kabhi gair kare; Agar hamen chhod kar jaanaa chaahte ho; Jaao chale jaao allaah khair kare।


एक इंसान मिला जो जीना सिखा गया;
आंसुओं की नमी को पीना सिखा गया;
कभी गुज़रती थी वीरानों में ज़िंदगी;
वो शख्स वीरानों में महफ़िल सजा गया।


Ek ensaan milaa jo jinaa sikhaa gayaa;
Aansuon ki nami ko pinaa sikhaa gayaa;
Kabhi gujrti thi viraanon men jindgi;
Vo shakhs viraanon men mahfil sajaa gayaa।


महफ़िल ना सही, तन्हाई तो मिलती है;
मिलें ना सही, जुदाई तो मिलती है;
प्यार में कुछ नहीं मिलता;
वफ़ा ना सही, बेवफ़ाई तो मिलती है।

Mahfil naa sahi, tanhaai to milti hai; Milen naa sahi, judaai to milti hai; Pyaar men kuchh nahin miltaa; Vfaa naa sahi, bevfaai to milti hai।


​यह ना थी हमारी क़िस्मत, कि विसाल-ए-यार होता;
अगर और जीते रहते, यही इंतज़ार होता;
तेरे वादे पर जाएँ हम, तो यह जान झूठ जाना;
कि ख़ुशी से मर ना जाते, अगर ऐतबार होता।

Yah naa thi hamaari kismat, ki visaal-aye-yaar hotaa; Agar aur jite rahte, yahi entjaar hotaa; Tere vaade par jaaan ham, to yah jaan jhuth jaanaa; Ki khushi se mar naa jaate, agar aitbaar hotaa।


जब भी उनकी गली से गुज़रता हूँ;
मेरी आंखें एक दस्तक दे देती हैं;
दुःख ये नहीं कि वो दरवाजा बंद कर देते है;
खुशी ये है कि वो मुझे अब भी पहचान लेते हैं।

Jab bhi unki gali se gujartaa hun; Meri aankhen ek dastak de deti hain; Duahkh ye nahin ki vo darvaajaa band kar dete hai; Khushi ye hai ki vo mujhe ab bhi pahchaan lete hain।

नमस्ते! मेरा रजनीश कुमार है। मै आपको यहां शायरी से सम्बंधित articles लिखता हूँ। यदि आप शायरी से संबंधित कोई articles लिखना चाहते हैं, तो कृपया royrajnish333@gmail.com पर लिख कर ईमेल करे । कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम के साथ हमें ईमेल करे ।

Post a comment

नमस्ते! मेरा रजनीश कुमार है। मै आपको यहां शायरी से सम्बंधित articles लिखता हूँ। यदि आप शायरी से संबंधित कोई articles लिखना चाहते हैं, तो कृपया royrajnish333@gmail.com पर लिख कर ईमेल करे । कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम के साथ हमें ईमेल करे ।

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post