आँखों शायरी । Aankhen Shayari in Hindi । Hindi Shayari

आँखों शायरी, Aankhen Shayari in Hindi, Hindi Shayari : A shayari in hindi People of India use Shayari the most. For example, when someone wants to send something to some WhatsApp, people send Aankhen Shayari, Aankhen Shayari sms, and many more. Friends, today we will tell you about some very new shayari which is very fun and you will also have a lot of fun reading it. If you like our poetry, then do share it. If you want to write poetry on our website, email us on the green email number. Have a good day .

Aankhen Shayari in Hindi | आँखों शायरी 


Aankhen Shayari in Hindi


आँखों में नमी, हंसी लबों पर, क्या हाल है, क्या दिखा रहे हो, बन जाएँगे ज़हर पीते-पीते, ये अश्क जो पीते जा रहे हो....

aankhon men nami, hansi labon par, kyaa haal hai, kyaa dikhaa rahe ho, ban jaaange jhar pite-pite, ye ashk jo pite jaa rahe ho....


ना चाँद ना तारे बस देखे तो आपकी आँखें, इन आखों में डूब जाना है, और प्यार की लहरों को पार कर जाना है...

naa chaand naa taare bas dekhe to aapki aankhen, en aakhon men dub jaanaa hai, aur pyaar ki lahron ko paar kar jaanaa hai...



Hindi Shayari |  Nashili aankhen shayari in hindi


नशा ज़रूरी है ज़िन्दगी के लिए, पर सिर्फ शराब ही नहीं है बेखुदी के लिए, किसी की मस्त निगाहों में डूब जाओ, बड़ा हसीन समंदर है खुद खुशी के लिए...

nashaa jruri hai jindgi ke lia, par sirph sharaab hi nahin hai bekhudi ke lia, kisi ki mast nigaahon men dub jaao, bdaa hasin samandar hai khud khushi ke lia...


बहुत दूर मगर बहुत पास रहते हो, आँखों से दूर मगर दिल के पास रहते हो, मुझे बस इतना बता दो ऐ दोस्त, क्या तुम भी मेरे बिना उदास रहते हो...

bahut dur magar bahut paas rahte ho, aankhon se dur magar dil ke paas rahte ho, mujhe bas etnaa bataa do ai dost, kyaa tum bhi mere banana updates rahte ho...


भूल सकता है भला कौन ये प्यारी आँखें, रंग में डूबी हुई नींद सी भरी आँखें, मेरी हर सांस ने, हर सोच ने चाहा है तुम्हें, जबसे देखा है तुम्हें, तब से सराहा है तुम्हें, बस गई हैं मेरी आँखों में तुम्हारी आँखें...

bhul Sakta hai Bhalla Kaun ye Pyaar aankhen, rang men Dubi hui mind si bari aankhen, meri har saans me, har such one chacha hai then, jabse Dekha hai then, tab se saraahaa hai then, bas Gayi hain meri aankhon men tumhaari aankhen...


 Nashville aankhen Shayari in Hindi for Girlfriend


अपनी आँखों में मेरा नाम लिख दो, हर रोज़ तुम अपना दिल मेरे नाम कर दो, अगर भूल जाओगे हमें तो मर जायेंगे हम, तुम अपनी लबों की नर्म खुशबु मेरे नाम कर दो...

apni aankhon men meraa naam like do, har roj tum apnea dil mere naam kar do, agar bhul jaaoge hamen to mar jaayenge ham, tum apni labon ki norm khushabu mere naam kar do...



आँखों-आँखों में गुजरी है ये रात, अभी भी शायद अधूरी है आँखों की बात

aankhon-aankhon men guard hai ye raat, Abhi bhi shaayad adhuri hai aankhon ki baat


सुबह तक का सफ़र कुछ यूँ तह किया हमने बिना छुए एक दुझे के साथ कटी हैं ये रात

subah tak ka sfar kuchh Yun Utah kiyaa hamne banana Chua Ek Tujhe ke saath Kati hain ye raat


थामा है एक दुझे को अपनी अदाओं से हमने, बिना कुछ बोले ख़ामोशी तोड़ती है सारी रात,

thaamaa hai Ek Tujhe ko apni adaaon se hamne, banana kuchh bole khaamoshi today hai Saari raat,

ये जिस्मानी मिलन नहीं रूहानी मेल हुआ है, साथ रह कर एक दुझे को अपना एहसास दिया है,

ye jismaani Milan Nahin Suhasini Mel huaa hai, saath rah kar Ek Tujhe ko apnea ehsaas diyaa hai,


Aankhen Shayari in Hindi


ना आता है, ना कभी आएगा गुजरा हुआ लम्हा, तन को नहीं मन को पाया है हमने सारी रात,

naa avatar hai, naa Kabhi aaa aa gujraa huaa Yamaha, tan ko Nahin man ko paayaa hai hamne Saari raat,



तलब ना मिट पाई तेरे दीदार से जीत की, चाहे एक नज़र देखता रहा तेरी सूरत सारी रात...

talab naa it paai there did se jit ki, change Ek near dekhtaa rahaa Teri surat Saari raat...


उससे कहना हम मजे में हैं, बस यादें बहुत सताती हैं, उनकी दूरी का गम नहीं मुझे, बस ज़रा आँखें भीग जाती हैं...

use Kahana ham make men hain, bas garden bahut state hain, unki duri Kaa gam Nahin Mujhe, bas jars aankhen big jati hain...


आँख जब बंद किया करते हैं, सामने आप हुआ करते हैं, आप जैसा ही मुझे लगता है, ख्वाब में जिससे मिला करते हैं...

aankh jab band kiyaa karate hain, saamne AAP huaa Karte hain, AAP jaisaa hi Mujhe lagtaa hai, khvaab men just milia Karte hain...


तुमने चाहा ही नहीं हालात बदल सकते थे, तुम्हारे आंसू मेरी आँखों से निकल सकते थे, तुम तो ठेरे रहे झील के पानी की तरह, दरीया बनते तो बहुत दूर निकल सकते थे...

tumne chacha hi Nahin Talaat Badal sakte the tumhaare aansu meri aankhon se nikal sakte the tum to there rahe jhil ke paani ki Tarah, dairy banter to bahut dur nikal sakte the...


क्या बात कहूं उन आँखों की, जिन आँखों पे मैं मरता हूँ, वो आँखें झील सी ऑंखें हैं, जिन में डूब के रोज़ उभरता हूँ

kya baat kahun un aankhon ki, jin aankhon pe main Martha hun, vo aankhen jhil si aunkhen hain, jin men dub ke roj ubhartaa hun


मुझे देखने के लिए उठती हैं, मिलते ही नज़र वो झुकती हैं, सारे जहाँ में ऐसी आँखें नहीं, जिन आँखों पे मैं मरता हूँ,

mujhe dekhne ke lie this hain, mile hi near vo just hain, saare jahaan men aisi aankhen Nahin, jin aankhon pe main Martha hun,


इन आँखों में कोई आंसू ना आए, कभी कोई गम ना पास आए, सदा मुस्कुराती रहें ये, हर दम ये दुआ मैं करता हूँ...

en aankhon men koi aansu naa aaa, Kabhi koi gam naa paas aaa, sadaa muskuraati rahen ye, har dam ye dual main kartaa hun...


उनकी आँखों में अंदाज़ बड़े ही गहरे रहते हैं, छुप-छुप के वो तारों से हमारी बातें कहते हैं, जब कोई पूछता है उनसे इस लुत्फ़-ऐ-ज़िन्दगी की वजह, ना जाने क्यों वो नजरें झुकाए मुस्कुराते रहते हैं...

Anki aankhon men and Aaj bde hi Jahre rahte hain, chhup-chhup ke vo taaron se Hamari beat kahte hain, jab koi puchhtaa hai use es lute-ai-jindgi ki vajah, Naa Jaane Kyon vo Darren jhukaaa muskuraate rahte hain...


जो पूछता है कोई सुर्ख क्यों हैं आज आँखें, तो आँख मल के कहता हूँ कि रात सो ना सका, लाख चाहूँ मगर यह ना कह सकूँगा कभी भी, कि रात रोने की ख्वाहिश थी मगर रो ना सका...

jo puchhtaa hai koi search Kyon hai Aaj aankhen, to aankh mal ke kahtaa hun ki Raat so naa sake, laakh chaahun Magar yah naa Kah sakura Kabhi bhi, ki Raat rone ki khvaahish this Magar or naa sake...


तुमको देखा एक नज़र हमने होश पा लिया, अपनी पलकों में तेरा आगोश पा लिया, हम दर्द को पीते हैं तेरा दर्द समझकर, आँखों ने छलकने का जोश पा लिया...

tumko Dekha Ek near hamne host paa loyal, apni palkon men Teraa aagosh paa loyal, ham dard ko pite hai Teraa dard samajhakar, aankhon me chhalakne Kaa josh paa loyal...

इतनी बेचैनी से तुमको किसकी तलाश है, वो कौन है जो तेरी आँखों की प्यास है,

etna chain see tumko kiski talaash hai, vo Kaun hai jo Teri aankhon ki pyaas hai,



जबसे मिला हूँ तुमसे यही सोचता हूँ मैं, क्यों मेरे दिल को हो रहा तेरा एहसास है,

jabse milia hun Tumse Yahi sochtaa hun main, Kyon mere dil ko ho rahaa Teraa ehsaas hai,



ज़िन्दगी के इस मोड़ पे तुम आके यूँ मिले, जैसे की कोई मंज़िल मेरे इतने पास है,

jindgi ka es mod pe tum make Yun mile, Jaise ki koi manzil mere one paas hai,

Post a comment

0 Comments