Maa Shayari | Mother's Day Sms | Maa Shayari In Hindi

Maa Shayari In Hindi: Friends, today we are sharing mother Shayari with you. The status of a mother is also given above God in the world. We cannot even imagine this world without a mother. In this world, God has also given the highest status to the mother. We can get everything in the world by serving the mother. Mother's Shayari and Mother's status are as follows - Maa Shayari in Hindi,  Maa status, Maa Shayari Hindi, Maa Shayari 2 lines, Maa Shayari image, Maa Beti Shayari, Maa Shayari photo, Maa status, Maa status in Hindi, Maa Baap status. 

Maa Shayari in Hindi


Maa Shayari


Maan Eeshvar Ka Diya Moolyavan Aur Durlabh Upahaar Hain.

माँ ईश्वर का दिया मूल्यवान और दुर्लभ उपहार हैं।




मंजिल दूर और सफ़र बहुत है…

छोटी सी ज़िन्दगी की फिकर बहुत है…

मार डालती ये दुनिया कब की हमे…

लेकिन ‘माँ’ की दुआओं मैं असर बहुत है!




एक हस्ती है जो जान है मेरी,

जो जान से भी बढ़ कर शान हे मेरी,

रब हुक्म दे तो कर दू सजदा उसे,

क्यूँ की वो कोई और नही

माँ है मेरी

Maa Status in Hindi


maa Shayari in Hindi


इन आँखों के कारण ही, तुझे दिल ने अपनाया था,

ये दिल भी यूँ अक्सर ही, आँखों को भिगाया था

चलने को तो मैं भी, चला जाता ज़माने से पर,

उस ऊँगली को कैसे भूलता,जो कभी चलना सिखाया था,




माँ पूरी जिंदगी अपने परिवार और अपने बच्चों के ऊपर अपना जीवन समर्पित कर देती है,

अपने पति के सम्मान के लिए झुकती है,

अपने बच्चों में आदर्श और गुण इक्क्ठे करने के लिए खुद का बलिदान करती है, ऐसी होती है माँ..!




किसी भी ​मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,

​शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता​।




जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है,

माँ दुआ करती हुई ख्वाब में आ जाती है…!!!



ऊपर जिसका अंत नहीं उसे ‘आसमां’ कहते हैं,

इस जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे ‘माँ’ कहते हैं..!!


Maa Shayari, Mujhe Kisee Aur Jannat Ka Nahin Pata


maa shayari image in hindi


Mujhe kisee aur jannat ka nahin pata, 

Kyonki ham maan ke kadamon ko hee jannat kahate hain.

मुझे किसी और जन्नत का नहीं पता,

क्योंकि हम माँ के कदमों को ही जन्नत कहते हैं।



तुझसे घर हैं तेरे बिन मकान तेरे आँचल से छोटा आसमान

तूने दुनिया को रखा हैं थाम……   माँ तुझे सलाम…..!!!!!!



रोटी वो आधी खाती है बच्चे को पूरी देती है,

मेरी हो या तुम्हारी दोस्तों, माँ सबकी माँ ही होती है…..!!



मत कहिये की मेरे साथ रहती हैं माँ

कहिए की माँ के साथ हम रहते हैं…!!!


Maa Shayari, Maa Baap Ka Dil 

Maa Shayari, Maa Baap Ka Dil


Maa Baap Ka Dil Jeet Lo Laamayaab Ho Jaoge. 

Varana Sare Duniya Jeet Kar Bhee Haar Jaoge .

माँ बाप का दिल जीत लो कामयाब हो जाओगे।

वरना सारी दुनिया जीत कर भी हार जाओगे !


जब एक रोटी के चार टुकड़े हों और खाने वाले पाँच..

तब मुझे भूख नहीं है ऐसा कहने वाली इंसान है – माँ !


लबों पर उसके कभी बद्दुआ नहीं होती,

बस एक माँ है जो कभी खफा नहीं होती…!!!


घेर लेने को मुझे जब भी बलाएँ आ गईं,

ढाल बन कर सामने माँ की दुआएँ आ गईं..!!


माँ ना होती तो हम ना होते,

माँ के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते|

में शुक्रगुजार हूँ उस माँ का जिस माँ ने मुझे इस दुनिया में लेकर आने का कष्ट उठाया.


Maa Shayari In Hindi, Kisee ka Dil todana



Kisee ka dil todana aaj tak nahee aaya mujhe, 

Pyaar karana jo apanee ‪maan‬ se seekha hai mene…

किसी का दिल तोडना आज तक नही आया मुझे,

प्यार करना जो अपनी ‪माँ‬ से सीखा है मेने…


बहुत खूबसूरत लब्ज़

तेरे बिना मैं ये दुनिया छोड़ तो दूँ!

पर उसका दिल कैसे दुखा दूँ!

जो रोज़ दरवाजे पर खड़ी कहती है….

“बेटा घर जल्दी आ जाना”


मंजिल दूर और सफ़र बहुत है .

छोटी सी जिन्दगी की फिकर बहुत है .

मार डालती ये दुनिया कब की हमे .

लेकिन “माँ” की दुआओं में असर बहुत है .


जन्नत‬ का हर ‪लम्हा‬ ‎दीदार‬ किया था,

‎माँ‬ तूने ‪गोद‬ मे उठा कर जब ‪प्यार‬ किया था !


मेरी ख्वाहिश है की मैं फिर से फरिश्ता हो जाऊँ

माँ से इस तरह लिपटूँ की बच्चा हो जाऊँ…!!!!


भूख तो एक रोटी से भी मिट जाती माँ,

अगर थाली की वो एक रोटी तेरे हाथ की होती

I Miss You Maa


हर इंसान के ज़िन्दगी में वह सबसे ख़ास होती है, दूर होते हुए भी वह दिल के पास होती है, जिसके सामने मौत भी अपना सर झुका दे, वह और कोई नहीं बस माँ होती है.


जब दुनियादारी में दर्द हमें होता हैं, तो चोट लगती है माँ के दिल को, और जब तक हमारी आँखों में हँसी नहीं देखती तब तक उसके दिल को सखूँ नहीं मिलता हैं


दिन भर की मशक़्क़त से बदन चूर है लेकिन माँ ने मुझे देखा तो थकान भूल गई है…!




“उनकों कभी देखा नहीं हमनें और इसकी जरुरत भी क्या होगी, ये माँ तेरी सूरत से अलग उस भगवान की मूरत ही क्या होगी ?”


“मैं जो कुछ भी हूँ या होने की आशा रखता हूँ उसका श्रेय सिर्फ मेरी माँ को जाता है.”


“भगवान् हर जगह नहीं हो सकते इसलिए उसने माँ बनायीं.”


“इंसान वो है जो उसे उसकी माँ ने बनाया है.”


“जिस घर में माँ होती है, वहां सब कुछ सही रहता हैं.”


“माँ के कंधे पर जब सर रखा मैंने तो पुँछा माँ से, कब तक युही अपने कंधे पर सोने देंगी.. माँ ने कहा बेटा : तब-तक की जब तक लोग मुझें अपने कंधे पर उठा नहीं लेंगे.”


“माँ तेरे दूध का कर्ज मुजसे कभी अदा नहीं होंगा.. अगर कभी रही तू नाराज तो खुश वो खुदा मुझसे क्या होंगा..”


“माँ” की एक दुआ जिन्दगी बना देगी, खुद रोएगी मगर तुम्हे हँसा देगी… कभी भुल के भी ना “माँ” को रूलाना, एक छोटी सी गलती पूरा अर्श हिला देगी…!!


माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ, थक गया हूँ मुझे अपने आँचल में सुलाओ, उँगलियाँ फेर कर बालों में मेरे, एक बार फिर से बचपन की लोरियाँ सुनाओ..!


आँख खोलू तो चेहरा मेरी माँ का हो आँख बंद हो तो सपना मेरी माँ का हो मैं मर भी जाऊं तो भी कोई गम नहीं लेकिन कफ़न मिले तो दुपट्टा मेरी माँ का हो!!


ऐ मेरे मालिक तूने गुल को गुलशन में जगह दी, पानी को दरिया में जगह दी, पंछियो को आसमान मे जगह दी, तू उस शख्स को जन्नत में जगह देना, जिसने मुझे “..नौ..” महीने पेट में जगह दी….!!


ये कहकर मंदिर से फल की पोटली चुरा ली माँ ने…. तुम्हे खिलाने वाले तो और बहुत आ जायगे गोपाल… मगर मैने ये चोरी का पाप ना किया तो भूख से मर जायेगा मेरा लाल…!


किसी ने रोजा रखा किसी ने उपवास रखा, कुबूल उसका हुआ जिसने अपने माँ-बाप को अपने पास रखा….!!


माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा, माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा, खुदा ने रख दी हो जिस के कदमों में जन्नत, सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।




ऐ अंधेरे! देख ले मुंह तेरा काला हो गया माँ ने आंखें खोल दीं घर में उजाला हो गया..!


मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊं मां से इस तरह लिपट जाऊं कि बच्चा हो जाऊं..!


“मेरी तकदीर में एक भी गम नही होता, अगर तकदीर लिखने का हक मेरी माँ को होता”


माँ भले ही पढ़ी-लिखी हो या न हो पर दुनिया का दुर्लभ व महत्वपूर्ण ज्ञान हमे माँ से ही प्राप्त होता हैं.


मैं जो कुछ भी हूँ या होने की आशा रखता हूँ उसका श्रेय मेरी “माँ” को जाता हैं.


आपको पता है प्रेम अँधा क्यों होता हैं? क्योकि आपकी माँ ने आपका चेहरा देखने से पहले ही आपसे प्रेम करना शुरू कर दिया था.


मुझे इतनी फुरसत कहाँ कि अपनी तकदीर का लिखा देखूँ, बस माँ की मुस्कुराहट देखकर समझ जाता हूँ कि मेरी तकदीर बुलंद हैं


Friends, if you like our Mother shayari and Maa Shayari status image then you must share it with your friends and your relatives. So that we can express our feelings about the mother more and more to the other.

Previous Post Next Post